राहुल द्रविड़ श्रीलंका दौरे पर हेड कोच की भूमिका में

मुख्य कोच रवि शास्त्री के इंग्लैंड में सीनियर भारतीय टीम के साथ व्यस्त रहने की स्थिति में राहुल द्रविड़ ‘द वाल’ को 13 जुलाई से शुरू होनेवाले श्रीलंका दौरे के लिए भारतीय टीम का हेड कोच बनाया गया है। भारतीय  टीम को श्रीलंका दौरे पर तीन-तीन मैचों की वनडे और टी20 सीरीज खेलनी है।

इससे पहले भी 48 साल के राहुल द्रविड़ को 2014 में इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम का बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त किए गया था। द्रविड़ वर्तमान में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के निदेशक हैं। इन्होंने 2015-19 तक अंडर-19 और इंडिया-ए टीम को कोचिंग दिया है।. उनकी कोचिंग में भारत की अंडर-19 टीम 2016 में विश्व कप की उपविजेता और 2018 में चैम्पियन बनी थी। ऐसे कुशल मार्गदर्शक के रहते निश्चित रूप से भारतीय युवा टीम से विशेष सफलता की आशा की जा सकती है। ध्यान देने की बात है कि आज भारतीय सीनियर टीम ने शामिल मोहम्मद सिराज, शुभमन गिल, वॉशिंगटन सुंदर और शार्दुल ठाकुर की कामयाबी के पीछे राहुल द्रविड़ की अपार मेहनत भी है।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के सूत्रों से कहा गया है कि चूंकि भारतीय टीम  का कोचिंग स्टाफ इंग्लैंड दौरे पर उस समय होगा,, जहां विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल भी न्यूजीलैंड के साथ खेला जाना है, अतएव इस स्थिति में  युवा भारतीय टीम को राहुल द्रविड़ का मार्गदर्शन मिलेगा। उनके द्वारा पहले से ही  ‘इंडिया ए’ के अधिकांश खिलाड़ियों के साथ काम किए जाने के कारण उनसे युवा खिलाड़ियों को अतिरिक्त लाभ भी प्राप्त होगा।इस दौरे पर हार्दिक पंड्या, शिखर धवन और श्रेयस अय्यर में से कोई कप्तान हो सकता है।

अब देखना दिलचस्प होगा कि टीम इंडिया के द्रोणाचार्य कहे जाने वाले तथा अपने जमाने के दिग्गज व महान् बल्लेबाज राहुल द्रविड़ की कोचिंग का कितना फायदा भारतीय युवा टीम ले पाती है?

ताज़ातरीन

spot_img

संबंधित खबरें

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay on op - Ge the daily news in your inbox